शिक्षा मंत्री ने आंदोलनकारी अध्यापकों को दिया सीएम से मिलाने का भरोसा

0
7

चंडीगढ़.शिक्षा मंत्री ओपी सोनी ने मंगलवार को सांझा अध्यापक मोर्चा के नेताओं के साथ उनकी मांगों पर विचार करने के बाद सीएम कैप्टन के साथ 16 या 17 दिसंबर को मीटिंग करवाने का भरोसा दिया। उन्होंने अध्यापकों को धरने का रास्ता छोड़कर बातचीत से मसले का हल करने को कहा।

उन्होंने कहा कि पटियाला में धरने के दौरान उन्होंने अध्यापकों से जो भी वायदा किया था, उसे पूरा किया जाएगा और विधानसभा सेशन के बाद 16 या 17 दिसंबर को सीएम के साथ मीटिंग करके मसले का हल निकाला जाएगा। उन्होंने कहा कि पहले भी सीएम ने अध्यापकों की मांग पर हमदर्दी के साथ विचार करते हुए वेतन पांच हजार रुपए बढ़ाया था। अब भी सीएम जो फैसला करेंगे, उसे लागू किया जाएगा।

मोर्चे की तरफ से अपने नेताओं की बदलियां और निलंबन को एक ही पत्र के द्वारा रद्द करने की मांग करने पर शिक्षा मंत्री ने कहा कि सारी प्रक्रिया पूरी करने के बाद यह बदलियां और निलंबन रद्द किए जाएंगे। उन्होंने मोर्चे से ऐसे अध्यापकों की सूची भी मांगी, जिनको बदला और निलंबित किया गया है।

मीटिंग के दौरान लैब अटेंडेंट, उर्दू के अध्यापकों और अन्य वर्गों के अध्यापकों को रेगुलर करने पर शिक्षा मंत्री ने हमदर्दी के साथ विचार करने का भरोसा दिया। सोनी ने अध्यापकों की रेशनेलाइजेशन और अन्य मांगों पर भी विचार करने का भरोसा दिया और सेक्रेटरी स्कूल शिक्षा को इस संबंधी कार्यवाही करने के लिए कहा। मीटिंग के दौरान सेक्रेटरी स्कूल शिक्षा कृष्ण कुमार और शिक्षा मंत्री के ओएसडी डीएस सरोआ भी मौजूद थे।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

अध्यापकों की बात सुनते सोनी।