रेडियो कनाडा ने भारतीय संस्कृति का मजाक उड़ाया, पीएम ट्रूडो को सपेरे के रूप में दिखाया

0
17

चंडीगढ़ (गुलशन कुमार).कनाडियन प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो का फरवरी, 2018 में भारत दौरा कनाडा में उनका पीछा नहीं छोड़ रहा है। सरकारी फंडिंग से चलने वाले पब्लिक ब्रॉडकास्टर रेडियो कनाडा ने ट्रूडो के भारत दौरे की पैरोडी बनाते हुए अपने पीएम की तो खिल्ली उड़ाई ही, भारतीय संस्कृति का भी मजाक उड़ाया। इसके लिए कनाडा-भर में रेडियो कनाडा की आलोचना हो रही है और इसे रेसिस्ट प्रोग्रामिंग कहा जा रहा है।

इस प्रोग्राम के शुरू में ही ट्रूडो की भूमिका में एक कलाकार कल्पना की दुनिया में चला जाता है जिसमें वह भारतीय कपड़े पहने हुए बीन बजाते हुए सपेरे की भूमिका में दिखता है। एक सीन में वह बॉलीवुड डांसर्स के साथ अजीब मुंह बनाते हुए डांस करता दिख रहा है। वहीं एक सीन में भारतीय माहौल में गाएं दिख रही हैं जिनको डोनाल्ड ट्रम्प के सिग्नेचर बालों और लाल टाई पहने एक गुरिल्ला हांक रहा है।

अब तक का सबसे घटिया प्रोग्राम बताया

मांट्रियल कल्चरल कंपनी बॉलीवुड ब्लास्ट की फाउंडर और डायरेक्टर इना भौमिक का कहना है कि यह वीडियो पूरी तरह से हमारी संस्कृति का अपमान है। हमारे डांस और अन्य परंपराओं का इस तरह से मजाक नहीं उड़ाया जा सकता। एक अन्य इंडो कनाडियन माहा खान का कहना है कि यह रेडियो कनाडा के खाली दिमाग को दर्शाता है। यह उनका अब तक का सबसे घटिया प्रोग्राम है।

नए साल की पूर्व संध्या पर अपने टीवी चैनल पर प्रसारित किया था

रेडियो कनाडा ने इस प्रोग्राम को नए साल की पूर्वसंध्या पर अपने टीवी चैनल पर प्रसारित किया था। इसका प्रसारण होते ही विवाद हो गया। रेडियो कनाडा के फेसबुक पेज पर भी इस प्रोग्राम के लिए कड़ी आलोचना की जा रही है। हजारों लोगों ने इस प्रोग्राम की आलोचना की है। कनाडाइयोंका भी कहना है कि यह काफी स्तरहीन कार्यक्रमहै और इसे नस्लवादी कंटेंट कहा जा सकता है। इसमें बेहद फूहड़ता से भारतीय संस्कृति का मजाक उड़ाया गया है।

भारत के दौरे में भारतीय रंग में रंगे दिखे थे ट्रूडो

भारत दौरे के वक्त ट्रूडो पूरी तरह से भारतीय रंग में रंगे दिखे थे। हालांकि, उनका यह दौरा विवादों में था। इसकी वचह यह थी कि उन्होंने अपने प्रोग्राम में खालिस्तान समर्थक जसपाल अटवाल को आमंत्रित किया था।पांच दिनों तक वे भारत के अलग-अलग शहरों में गए। भारत सरकार की ओर से उन्हें छठे दिनतवज्जो दी गई। इस दौरे को लेकर कनाडाईसंसद में भी उनकी काफी आलोचना हुई थी।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

Criticism of Radio Canada on fun of Indian culture
Criticism of Radio Canada on fun of Indian culture