ऑस्ट्रेलिया में 71 साल में 11 टेस्ट सीरीज खेल चुका भारत, एक भी नहीं जीता

0
8

नई दिल्ली. इस साल की शुरुआत में ही तय हो गया था कि विराट कोहली की अगुआई में टीम इंडिया को तीन मुश्किल चुनौतियों से जूझना होगा। दक्षिण अफ्रीका दौरा, इंग्लैंड दौरा और ऑस्ट्रेलिया दौरा ये तीन चुनौतियां थीं। टेस्ट क्रिकेट में इन तीनों ही देशों में भारत का रिकॉर्ड अच्छा नहीं था। दक्षिण अफ्रीका और ऑस्ट्रेलिया में टीम इंडिया कभी कोई सीरीज नहीं जीत सकी थी। वहीं, इंग्लैंड में पिछले दो दौरे पर करारी हार मिली थी। इस बार दक्षिण अफ्रीका में भारत ने कड़ा संघर्ष किया लेकिन, 1-2 से हार मिली। इंग्लैंड में पांच मैचों की सीरीज 1-4 से गंवाई। अब बारी है ऑस्ट्रेलिया दौरे की।

ऑस्ट्रेलिया में आठ सीरीज हार चुकी हैटीम इंडिया

टीम इंडिया 1947 से ऑस्ट्रेलिया का दौरा कर रही है। तब से अब तक टीम इंडिया 11 बार ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज खेल चुकी है। इनमें से 8 सीरीज में हमें हार का सामना करना पड़ा। वहीं तीन सीरीज ड्रॉ रही। पिछले लगातार तीन ऑस्ट्रेलिया दौरे पर भारतीय टीम ने टेस्ट सीरीज गंवाई है। ऑस्ट्रेलिया में भारत की मुश्किल का अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि वहां टीम अब तक 44 टेस्ट में सिर्फ पांच ही जीत पाई है। उसे 28 में हार का सामना करना पड़ा है और 11 मुकाबले ड्रॉ रहे हैं।

गांगुली-गावस्कर ही ऑस्ट्रेलिया को उसकी धरती पर हरा पाए

भारत की ओर से कुल 13 खिलाड़ियों ने ऑस्ट्रेलिया में टीम की कप्तानी की है। इनमें से नौ को एक भी जीत नसीब नहीं हुई। सुनील गावस्कर और सौरव गांगुली ही ऐसे कप्तान रहे हैं जिनके हिस्से ऑस्ट्रेलिया में जीत और हार बराबर की संख्या में आए। धोनी को ऑस्ट्रेलिया में पांच में से चार टेस्ट मैचों में हार का सामना करना पड़ा।

इस बार टीम इंडिया जीत की तगड़ी दावेदार, ये हैं कारण

बॉल टैम्परिंग के कारण स्मिथ और वार्नर पर प्रतिबंध
टीम इंडिया के पिछले ऑस्ट्रेलिया दौरे से लेकर अब तक ऑस्ट्रेलिया की ओर से सबसे ज्यादा रन बनाने वाले दो बल्लेबाज स्टीव स्मिथ और डेविड वार्नर हैं। इस टाइम पीरियड में स्मिथ ने 42 टेस्ट में 4664 रन और वार्नर ने 42 टेस्ट में 3657 रन बनाए हैं। दोनों ही खिलाड़ी अभी बॉल टैम्परिंग मामले में बैन झेल रहे हैं। हालांकि, बैन हटाने की मांग तेज हो रही है।

भारत का तेज गेंदबाजी आक्रमण बेहद मजबूत
भारत के पास उसके क्रिकेट इतिहास में संभवत: अब तक का सबसे मजबूत तेज गेंदबाजी आक्रमण है। टेस्ट में इस साल भारतीय गेंदबाजों ने सबसे ज्यादा 197 विकेट लिए हैं। इनमें 133 विकेट तेज गेंदबाजों ने लिए हैं। मोहम्मद शमी ने 33, इशांत शर्मा ने 30, जसप्रीत बुमराह ने 28, उमेश ने 18, हार्दिक पंड्या ने 13 और भुवनेश्वर कुमार ने 10 विकेट लिए हैं।

कप्तान विराट कोहली का फॉर्म और ट्रैक रिकॉर्ड
विराट का मौजूदा फॉर्म और ऑस्ट्रेलिया में उनका रिकॉर्ड दोनों ही टीम इंडिया के लिए मोराल बूस्टर का काम करेगी। विराट ने पिछले ऑस्ट्रेलियाई दौरे पर चार टेस्ट मैचों की आठ पारियों में चार शतकों की मदद से 692 रन बनाए थे। इस साल वे 10 टेस्ट मैचों में 4 शतकों की मदद से 1063 रन बनाए हैं। उन्होंने लगातार तीन साल हजार से ज्यादा रन बनाए हैं।

टीम इंडिया की राह में दो मुश्किल
1- विराट ने दक्षिण अफ्रीका और इंग्लैंड में कुल आठ मैचों में 879 रन बनाए। अन्य कोई भी बल्लेबाज 400 रन का आंकड़ा भी नहीं पार कर सका।
2-घरेलू परिस्थितियों में ऑस्ट्रेलिया की गेंदबाजी पहले की तरह मजबूत है। स्टार्क, हेजलवुड और सिडल की तिकड़ी घातक साबित हो सकती है।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

india vs australia t-20, test, odi cricket series analysis news