ऋषभ इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट शतक लगाने वाले दुनिया के दूसरे विकेटकीपर

0
11

खेल डेस्क. बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी के चौथे और आखिरी टेस्ट में भारत की ओर से ऋषभ पंत ने शतक लगाया। पंत का ऑस्ट्रेलिया में यह पहला शतक है। उन्होंने यह शतक लगाते ही कई रिकॉर्ड अपने नाम कर लिए। वे ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड में शतक लगाने वाले पहले भारतीय विकेटकीपर बन गए। यही नहीं, वे विदेशी खिलाड़ी के तौर पर इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया में शतक लगाने वाले दुनिया के दूसरे विकेटकीपर हैं।

पंत ने 15वीं पारी में हासिल की उपलब्धि

ऋषभ ने पिछले साल सात सितंबर को इंग्लैंड के ओवल मैदान पर दूसरी पारी में 114 रन बनाए थे। वह उनके करियर का पहला शतक था। अब उन्होंने सिडनी टेस्ट में 159 रन की नाबाद पारी खेली। ऋषभ अपने नौवें टेस्ट की 15वीं पारी में इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया में शतक लगाने वाला दूसरे विदेशी विकेटकीपर बन गए।

ऋषभ ने वेस्टइंडीज के जेफ डुजोन की बराबरी की

ऋषभ से पहले सिर्फ वेस्टइंडीज के जेफ डुजोन ही ऐसे विकेटकीपर थे, जिन्होंने विदेशी खिलाड़ी के तौर पर ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड दोनों जगह शतक लगाने की उपलब्धि अपने नाम की थी। डुजोन ने जुलाई 1984 में मैनचेस्टर में 101 और उसी साल नवंबर में पर्थ में 139 रन की पारी खेली थी।

11 रन के अंतर से डिविलियर्स को पीछे छोड़ने से चूके

ऋषभ ऑस्ट्रेलिया में विदेशी विकेटकीपर के तौर पर हाइएस्ट स्कोरर बनने से महज 11 रन से चूक गए। वे 159 रन बनाकर नाबाद रहे, जबकि ऑस्ट्रेलिया में किसी विदेशी विकेटकीपर का हाइएस्ट स्कोर 169 रन है। यह उपलब्धि दक्षिण अफ्रीका एबी डिविलियर्स के नाम है। डिविलियर्स ने नवंबर 2012 में पर्थ में 169 रन की पारी खेली थी। ऐसे में ऋषभ यदि अपने स्कोर में 11 रन और जोड़ लेते तो वे ऑस्ट्रेलिया में विदेशी विकेटकीपर के तौर पर हाइएस्ट स्कोरर बन जाते।

ऑस्ट्रेलिया में शतक लगाने वाले दूसरे सबसे युवा भारतीय
ऋषभ ऑस्ट्रेलिया में शतक लगाने वाले दूसरे सबसे युवा भारतीय हैं। ऋषभ ने 21 साल 92 दिन की उम्र में ऑस्ट्रेलिया में शतक लगाया। इस सूची में सचिन तेंडुलकर शीर्ष पर हैं। सचिन ने दो जनवरी 1992 को सिडनी मैदान पर ऑस्ट्रेलिया में अपना पहला टेस्ट शतक लगाया था। उस समय उनकी उम्र 18 साल 256 दिन थी। सचिन ने एक फरवरी 1992 को ऑस्ट्रेलिया में अपना दूसरा शतक लगाया था। उस समय उनकी उम्र 18 साल 285 दिन थी। इस तरह ऋषभ ऑस्ट्रेलिया में सबसे कम उम्र में शतक लगाने वाले भारतीयों की सूची में तीसरे नंबर पर हैं। पहले और दूसरे पर सचिन ही कायम हैं।

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दो बार लगातार तीन पारियां घोषित करने वाली भारत इकलौती टीम

सिडनी टेस्ट में टीम इंडिया ने अपनी पहली पारी सात विकेट पर 622 रन बनाकर घोषित की। उसने मेलबर्न टेस्ट में भी अपनी दोनों पारियां घोषित की थीं। टीम इंडिया 2008 में भी लगातार तीन पारियां घोषित कर चुकी है। वह ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दो बार लगातार तीन पारियां घोषित करने वाली दुनिया की इकलौती टीम है। टीम इंडिया ने 2008 में मोहाली और दिल्ली टेस्ट में भी लगातार तीन पारियां घोषित की थीं।

भारत सिडनी में तीन बार 600+ का स्कोर करने वाली पहली विदेशी टीम

टीम इंडिया ने सिडनी में तीसरी बार 600 से ज्यादा रन का स्कोर किया। वह सिडनी में ऐसा करने वाली पहली विदेशी टीम है। टीम इंडिया के अलावा विदेशी टीम के तौर पर सिर्फ इंग्लैंड और वेस्टइंडीज ही सिडनी में 600 से ज्यादा रन का स्कोर बना पाए हैं। इंग्लैंड दो बार यह उपलब्धि अपने नाम करने में सफल रहा है।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

Rishabh Pant 2nd visiting wicket-keeper to register Test 100s in England and Australia
Rishabh Pant 2nd visiting wicket-keeper to register Test 100s in England and Australia
Rishabh Pant 2nd visiting wicket-keeper to register Test 100s in England and Australia