आईएसआई की महिला एजेंट ने फेसबुक फ्रेंड बनकर सेना के 45 जवान फंसाए

0
5

जोधपुर (डीडी वैष्णव). पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई की महिला एजेंट के जाल में फंसे जैसलमेर मिलिट्री स्टेशन के आर्म्ड (टैंक) यूनिट के सिपाही सोमवीर सिंह से कई चौंकाने वाली बातें सामने आई हैं। महिला एजेंट ने सेना के 45 से ज्यादा जवानों को जाल में फांसा था। सोमवीर के पकड़े जाने के बाद जांच के दौरान ये सभी जवान जांच के दायरे में आ गए हैं।

महिला एजेंट ने ‘अनिका चोपड़ा’ नाम से फेक फेसबुक आईडी बनाकर जवानों से दोस्ती की। सेना और हनी ट्रैप मामले की जांच से जुड़े उच्च पदस्थ सूत्रों के अनुसार अनिका ने 2016 में सबसे पहले सोमवीर को झांसे में लिया। इसके बाद उसकी फ्रेंड लिस्ट के म्युचुअल फ्रेंडस से दोस्ती की। महिला एजेंट खुद को मिलिट्री नर्सिंग सर्विस का कैप्टन बताती थी। अब इस मामले की जांचमिलिट्री इंटेलिजेंस (एमआई) की जोधपुर यूनिट, राजस्थान सीआईडी (इंटेलिजेंस) और अन्य खुफिया एजेंसियों कीटीमें कर रही हैं।

सोमवीर साल की शुरुआत में लिया गया हिरासत में

जयपुर में एडीजी (इंटेलिजेंस) उमेश मिश्रा के अनुसार, पिछले कुछ समय से सोशल मीडिया पर संदिग्ध गतिविधियों के चलते सोमवीर को नए साल की शुरुआत में ही हिरासत में लिया गया था। बाद में उसके खिलाफ कुछ सबूत मिलने पर शुक्रवार को गिरफ्तार किया है। जयपुर में इससे पूछताछ की जा रही है। इसे 18 जनवरी 2019 तक पुलिस रिमांड पर लिया गया है। सोमवीर पर स्वदेशी अर्जुन टैंक से किए जाने वाले युद्धाभ्यास के वीडियो सोशल मीडिया के जरिए पाकिस्तान भेजने का आरोप है।

शादीशुदा हैसोमवीर

महिला एजेंट ने 2016 में फेसबुक पर फौजी वर्दी में सोमवीर सिंह का फोटो देखकर उससे दोस्ती की। महिला एजेंट के झांसे में आयासोमवीर शादीशुदा है। अनिका पहले तो मैसेंजर से बात करती थी, बाद में जम्मू के मोबाइल नंबर से लगातार वीडियो औरवॉयस कॉल करने लगी। महिला एजेंट जिस नंबर से कॉल करती थी, उसका आईपी एड्रेस कराची का आ रहा है। सोमवीर के पकड़े जाने के बाद अनिका ने फेसबुक पर फ्रेंड्स की लिस्ट ब्लॉक कर दी, ताकि कोई देख नहीं सके। निजी जानकारी भी छिपा दी।

जैसलमेर में ही है अर्जुन टैंक की यूनिट

सोमवीर ने अहमदनगर में टैंक के ट्रेनिंग सेंटर से कई महत्वपूर्ण जानकारियां शेयर कर दीं। इसके बाद उसकी तैनाती 2017 में जैसलमेर मिलिट्री स्टेशन स्थित अर्जुन टैंक की यूनिट में हुई। यहां ये आईएसआई के लिए महत्वपूर्ण मोहरा बना। देश में अर्जुन टैंक की यूनिट जैसलमेर में ही है।

खुद को भी सेना के नर्सिंग स्टाफ का बताती थी
महिला एजेंट सोमवीर के अलावा इसी आर्म्ड यूनिट के 4-5 अन्य जवानों के संपर्क में थी। उनसे सूचनाएं उगलवाने के लिए वीडियो कॉल के दौरान उन्हें अश्लीलडांस करके दिखाती थी। सोमवीर के मोबाइल से उसकी नग्न तस्वीरें मिली हैं। वह जवानों को खुद मिलिट्री नर्सिंग सर्विस की कैप्टन बताते हुए शादी का झांसा भी देती थी। जब वह सूचनाएं पूछने लगी तो दो-तीन जवानों ने किनारा कर लिया, लेकिन सोमवीर उसके जाल में फंस गया।

5 हजार में बेच दिया ईमान
सोमवीर ने महज 5000 रुपए के बदले अर्जुन टैंक की एक्सरसाइज सहित कई वीडियो औरमूवमेंट महिला एजेंट को दिए थे। अनिका ने पिछले साल जून में सोमवीर के खाते में ये रुपए दिल्ली के लाजपत नगर की एक डिपोजिट मशीन से जमा करवाए। पैसे जमा करने वाला व्यक्ति हेलमेट पहनकर एटीएम में पहुंचा था। खुफिया एजेंसियां उसे ढूंढ रही हैं। इसके बाद जुलाई में 10 हजार रुपए मांगे तो जैसलमेर में किसी एजेंट के माध्यम से भेजे। ये एजेंट जैसलमेर रेलवे स्टेशन के पास तक पहुंचा था, लेकिन सोमवीर को कैंट के बाहर जाने की इजाजत नहीं थी। सोमवीर ने एजेंट को कैंट एरिया में बुलाया, लेकिन एजेंट कैंट इलाके में नहीं गया।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

आईएसआई एजेंट की फेक फेसबुक आईडी पर यह प्रोफाइल पिक्चर लगाई गई थी। दूसरी तस्वीर में जवान सोमवीर।